logo
  • VAISHALI DAIRYS
  • RNI Ref No. - 1325847
  • Title Code - BIHHIH11817
  • +91 7070777733

वैशाली डायरी

Breaking News

बिदूपुर:स्थानीय बुद्धिजीवियों,राजनीतिक दल कर रहे समझौते की प्रयास। बिदूपुर:अपराध की योजना बना रहे दो अपराधी गिरफ्तार। जनता-जनार्दन के स्वास्थ्य लाभ के लिए आयूर्वेद एवं प्राकृतिक चिकित्सा का केंद्र खुला। पितृदेव शिरोमणि व ज्योतिष वास्तु आयुर्वेद भूषण सम्मान मिला! प्रोफेसर अनिरुद्ध प्रसाद उर्फ एपी दास के असामयिक निधन पर समाज को अद्वितीय क्षति !

परिचय

एक सामान्य परिवार से होते हुए भी एक कदम आगे बढ़ाकर सामाजिक जीवन में अपनी खुद एक जगह बनाई। स्वर्गीय सुरेंद्र प्रसाद सिंह जी के द्वितीय पुत्र के रूप में अपना जीवन हमेशा एक साधारण रखा। पिता से मिलने वाले संस्कारों को संजोग कर परिवार के दायरे को हमेशा बढ़ाने में विश्वास रखते हैं। अपने गुजरते हुए समयों में सादा जीवन उच्च विचार की भावनाओं को जीवन में उतारा।

परिवार :

परिवार एक जन्म लिए हुए घरों में नहीं समिटा जा सकता हैं। इसी सोच़ के साथ सम्मान एवं अनुपालन करते हुए ग्रामीण परिवेश की राजनीति को सेवा भाव से आगे बढ़ाया। इसी सेवा भावना से पंचायत के प्रति सर्मिपत हुए और कई बार उन्हें विभिन्न पदों पर काम करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ।

शिक्षा :-

प्राथमिक शिक्षा :
आदर्श मध्य विद्यालय, पकौली, हाजीपुर, वैशाली

मध्यमिक शिक्षा :
श्ािव सागर विद्या मंदिर, रामदौली, हाजीपुर, वैशाली

मैट्रिक :
बिहार विद्यालय परीक्षा समिति, पटना

इंटर :
राम दयालु सिंह महाविद्यालय, मुजफ्फरपुर



संघर्ष :-

छोड़ों मत अपनी आन, भले सीस कट जाए,
मत झुको अनय पर भले व्योम फट जाए,
इन्होंने अपनी जिंदगी में कभी सिद्धांतों से समझौता नहीं किया ‘‘ प्राण जाए पर वचन न जाए ’’। इस पंक्ति को चरितार्थ कर निःस्वार्थ भाव से पंचायत की लगातार सेवा करते आ रहे हैं। अध्ययन पुरी करने के बाद लोगों की सेवा अनवरत करते हुए आज इस मुकाम तक पहुँचे हैं।



कार्यकलाप :-

कृषक व्यवसाय :
किसान होने पर गर्व होता हैं और मातृभूमि की सेवा करने का अवसर प्राप्त हुआ इसे सौभाग्य समझते हैं। वर्ष 2001 से ही गौ पालन की जिम्मेवारी ली। वहीं साथ ही साथ आम की खेती को बढ़ावा देने के लिए सैंकड़ों पेड़ रोपे। जिन पेड़ों के आम खाते हैं और सुख का अनुभव करते हैं। कृषि ही मुख्य रूप में आय का जरिया रहा और गौ पालन के माध्यम से अपने कृषक धर्म की सेवा के साथ पुरा करने का प्रयास करते रहे हैं।

कृषि सफ़र :
रोजगार जब अपने कर्तव्यों का पालन करने का अवसर प्राप्त हुआ तो सरकार के द्वारा दी गई योजनाओं के माध्यम से पंचायत में रोजगार के सभी अवसरों को अक्षरशः जमीन पर उतारा। जिसमें मनरेगा के माध्यम से मजदूरों को यथार्थ अवसर उपलब्ध कराने में पूर्ण सफलता प्राप्त किया।



राजनीतिक सोच़ :-

एक ऐसे राजनीति को आदर्श बनाया जाए जिसे देखकर लोग राजनीति में आने को प्रेरित हैं



सामाजिक सोच़ :-

उनकी सामाजिक सोच यही है कि एक ऐसे समाज का निर्माण हो, जिस समाज में किसी को भी चाहे वह किसी भी परिवार से जुड़ाव रखता हो, किसी भी परिवार से गुजर बसर करता हो, उसको सरकार के द्वारा दी गई मूलभूत सुविधाएं जरुर मिलनी चाहिए। जाति-धर्म के आधार पर समाज में बाँटवारा सही नहीं है। उनकी सबसे बड़ी सोच यही रही है कि एक ऐसे समाज का निर्माण हो, जिस समाज में सब लोग मिलकर एक साथ, शांतिपूर्ण जीवन व्यतीत कर सकें। बिना किसी जातिगत भेद व डर किए बिना।



राजनीतिक सफ़र :-

राजनीतिक सफर में वर्ष 2001 से 2001 से 2006 तक उप-सरपंच पद पर कार्यरत रह। वहीं से उनकी राजनीतिक सफर की शुरुआत हुई। वर्ष 2011 में पंचायत उप-चुनाव में र्नििवरोध उप-मुखिया के पद पर निर्वाचित हुए। 2016 से वर्तमान में पंचायत चुनाव में मुखिया के पद पर सेवा दे रहे हैं।

महत्वपूर्ण नोट :-
नोट: 2006 में उनकी पत्नी अल्पना देवी उप-मुखिया के पद पर निर्वाचित हुई। जिसमें उनके पिछले समयों में पंचायत में किए गए कार्य को पंचायत के लोगों ने सराहा।





जीवन उद्देश्य :-

एक ऐसे समाज का निर्माण हो, जिस समाज में गाय और शेर एक ही घाट पर पानी पी सके यानी कि एक शांतिपूर्ण और सामाजिक सौहार्द पूर्ण समाज की स्थापना हो।

GALLERY :





alternatetext alternatetext alternatetext alternatetext alternatetext



+